Parishkar International College
 Untitled Page CSS3 Social Sliding Left Menu with Fullscreen

पाठ्यक्रम

सत्र 2015 से बी.एड. पाठ्यक्रम की अवधि दो वर्ष की हो गई है। बी.एड. प्रथम वर्ष में विद्यार्थी आठ अनिवार्य प्रश्न-पत्र और एक ऐच्छिक विषय तथा द्वितीय वर्ष में छह अनिवार्य प्रश्न पत्र और एक ऐच्छिक विषय लेगा। ऐच्छिक विषय को ही शिक्षण विषय कहा जाता है। शिक्षण विषय से तात्पर्य है विद्यार्थी द्वारा स्नातक स्तर पर पढ़े हुए विषयों में से ही दो विषयों का चयन करना, जैसे-इतिहास, राजनीति विज्ञान, हिंदी विषय पढ़ने पर इतिहास, नागरिक शास्त्र, हिंदी, सामाजिक अध्ययन विषय बनते हैं। विद्यार्थी इनमें से किन्हीं दो विषयों का चयन कर सकता है। यदि विद्यार्थी ने स्नातक स्तर पर समाजविज्ञान के विषयों में से अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, इतिहास, भूगोल, लोकप्रशासन, समाजशास्त्र, मनोविज्ञान, दर्शनशास्त्र आदि में से कोई दो विषय पढ़े हैं तो वह सामाजिक अध्ययन विषय भी ले सकता है। इसी तरह विज्ञान के दो विषय भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, प्राणि विज्ञान आदि मिलकर सामान्य विज्ञान विषय बनता है।